श्री जयराम ब्रह्मचर्य आश्रम ट्रस्ट, नई दिल्ली में यात्रियों के आवास हेतु आधुनिक सुविधाओं से युक्त कमरे उपलब्ध हैं।

श्री जयराम आश्रम, हरिद्वार

अति पवित्र स्थली हरिद्वार में गंगा घाट के किनारे ब्रह्मचारी श्री देवेन्द्र स्वरूप जी महाराज ने भीमगोड़ा में, सन् 1972 में भूमि खरीदी। आदिगुरू ब्रह्मचारी श्री जयराम जी महाराज की पुण्य-स्मृति में इस भूमि पर एक विशाल भवन के निर्माण का कार्य सन् 1974 में आरम्भ किया गया। बारह वर्ष के अथक परिश्रम के परिणामस्वरूप 1986 में यह भवन बनकर तैयार हुआ । जनसेवा तथा आधुनिक सुख-सुविधा से युक्त इस आश्रम ने अल्पकाल में ही आशातीत प्रसिद्धि प्राप्त कर ली।

परम पूज्य ब्रह्मचारी श्री देवेन्द्र स्वरूप जी महाराज ने जन कल्याण हेतु इस भवन के साथ-साथ धर्मार्थ चिकित्सालय, अन्न भंडार तथा पुस्तकालय आदि भी स्थापित किये है।

आगे पढ़ें.

जयराम संस्थान द्वारा संचालित मानव कल्याणार्थ विविध सेवा प्रकल्प

  • विविध आधुनिक एवं पारम्परिक शिक्षा संस्थानों का संचालन।
  • गौसेवा हेतु गौशालाओं का संचालन।
  • देवभाषा संस्कृत के संरक्षणार्थ संस्कृत महाविद्यालय का संचालन।
आगे पढ़ें.

आने वाले कार्यक्रम

पुराने कार्यक्रम

हमारे संस्थान