visitor no.

 
 श्री जयराम आश्रम, हरिद्वार

अति पवित्रस्थली हरिद्वार में गंगाघाट के किनारे ब्रहमचारी श्री देवेन्द्र स्वरूप जी महाराज ने भीमगोडा में, सन्‌ 1972 में भूमि खरीदी। अदिगुरू ब्रहमचारी श्री जयराम जी महाराज की पुण्य-स्मृति में इस भूमि पर एक विशाल भवन के निर्माण का कार्य सन् 1974 में आरम्भ किया गया।

आगे पढ़ें


जयराम संस्थान द्वारा संचालित मानव कल्याणार्थ
विविध सेवा प्रकल्प

विविध आधुनिक एवं पारम्परिक शिक्षा संस्थानों का संचालन।
 

गौसेवा हेतु गौशालाओं का संचालन।
 

देवभाषा संस्कृत के संरक्षणार्थ संस्कृत महाविद्यालय का संचालन।
 

निर्धन छात्रों की आवास, भोजन एवं शिक्षा की व्यवस्था।
 

गरीब कन्याओं के प्रतिवर्श विवाह समारोह का आयोजन।
 

आगे पढ़ें

 

 
Copyrights Reserved : Shri Jairam Ashram, Haridwar

Powered by Webline